सोशल

आदिवासी आश्रम में मनाया गया बस्तर का पहला सामूहिक जन्मदिन

  • सुबह पौधरोपण दोपहर को केक काटकर इस आदिवासी आश्रम में मनाया गया बस्तर का पहला सामूहिक जन्मदिन

खबरी चिड़िया @ दंतेवाड़ा बस्तर में आदिवासी समुदाय के अभिभावकों के लिए बच्चों को पढ़ाने का सबसे पसंदीदा स्थान अब दंतेवाड़ा बन चुका है। यहाँ एजुकेशन सिटी से लेकर लक्ष्य कोचिंग सेंटर और आश्रम शालाओं में प्रवेश के लिए बस्तर के हर जिलों से दाखिले के लिए विद्यार्थियों का आना होता हैं। लेकिन परिवार से दूर रह कर पढ़ाई करने वाले बच्चों को अपने जन्मदिन मनाने का मौका समय पर नहीं मिल पाता है।

इसके लिए मौजूदा सरकार ने सभी आश्रम शालाओं को महीने भर में पड़ने वाले छात्र-छात्राओं के जन्मदिन महीने के अंतिम रविवार मनाने की व्यवस्था करने को कहा है। जिसमें अभिभावक भी उपस्थित हो सकते हैं।

इसी व्यवस्था के तहत आज 28 जुलाई रविवार को बस्तर में पहला जन्मदिन कन्या शिक्षा परिसर पातररास की बालिकाओं द्वारा मनाया जाना था। लेकिन इन छात्राओं के इस जन्मदिन को विशेष तौर पर यादगार बनाने के लिए आश्रम अधीक्षिका हेमलता नाग ने इको एक्शन नेटवर्क टीम दंतेवाड़ा के सहयोग से आश्रम के पीछे खाली स्थान पर आश्रम की 12 छात्राओं के जन्मदिन पर उनके हाथों पौधरोपण कराकर यादगार बना दिया।

कन्या शिक्षा परिसर पातररास की बालिकाओं ने इको एक्शन नेटवर्क दंतेवाड़ा की टीम के साथ फलदार वृक्षो कटहल, आम, नींबू, आँवला, पपीता, मुनगा, जामुन आदि के रोपण का कार्य सम्पादित कर अपना जन्मदिन मनाया। इको एक्शन नेटवर्क दंतेवाड़ा की टीम के सम्मनित श्रमवीरो में जय नारायण सिंह बस्तरिया, दीपक कुमार ठाकुर, दीपक कुमार गोयल, प्रभात सिंह, शेख अक्की, शाहनवाज खान, अनिशा बंजारा, जलंधर माली, और आश्रम अधीक्षिका हेमलता नाग के साथ 03 घण्टे लगातार मेहनत कर आश्रम की छात्राओं को पौधे लगाने में सहयोग प्रदान किया।

सुबह आश्रम की अन्य छात्राओं के साथ पौधरोपण करने के बाद दोपहर में केक काटकर 12 बालिकाओं निकिता सिरदार केशकाल,नीलम सिन्हा मैलावाड़ा, विशाखा नाग मटेनार, अमिषा सिन्हा मैलावाड़ा, राखी भोयर कांकेर, दुर्गा जयते भानुप्रतापपुर, बिंदु यादव चितलंका, तुलसी मंडावी बारसूर, संध्या भोगामी माँझीपदर, संजना मरकाम पीरनार, ज्योति सिंगे बीजापुर, सुमन कश्यप भानपुरी ने अपना जन्मदिन मनाया।

इनके जन्मदिन पर कन्या शिक्षा परिसर में विशेष तौर पर भोजन हेतु अंडे और पनीर की सब्जी तैयार की गई थी। बारिश की वजह से अपने बेटियों के जन्मदिन पर दूर दराज में रहने वाले अभिभावक अपने बच्चों से मिलने नहीं पहुँच पाए। आश्रम अधीक्षिका हेमलता नाग ने छात्राओं को जन्मदिन पर कलम तोहफे में दिया।

Most Popular

To Top