बस्तर

UPDATE: दंतेवाड़ा की तीन ताकतवर महिलाओं समेत कलेक्टर और हमारे संपादक ने किया मतदान

खबरी चिड़िया @ दंतेवाड़ा उपचुनाव में दंतेवाड़ा की तीन ताकतवर महिलाओं देवती कर्मा, सोनी सोरी और ओजस्वी मंडावी ने भी अपने अपने मतदान केंद्रों में मतदान किया। तीनों महिलाओं ने विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हुए अपने सुहाग को खोया तथा राजनीति और समाजसेवा के मैदान में मजबूती से संघर्ष कर रही है। नक्सलियों के इलाकों से शिफ्ट किये गए बूथों पर भी शुरुआती मतदान होने की खबर आ रही है। माओवादियों ने इस बार अब तक मतदान में कोई विध्न नहीं पहुँचाया है। दंतेवाड़ा की कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा ने भी अपने गाँव फरसपाल में मतदान किया है । पूर्व विधायक देवती कर्मा के चेहरे पर जीत का भरोसा स्पष्ट रूप से आप देख सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस बार कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में प्रचार प्रसार हुए हैं।

इधर दंतेवाड़ा कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने अपनी पत्नी श्रीमती नंदिनी वर्मा के साथ मतदान केंद्र में जाकर अपने मत का प्रयोग किया। कलेक्टर वर्मा ने निष्पक्ष और निडर होकर बिना प्रलोभन के मतदाताओं से मतदान करने अपील की है।

जिस इंद्रावती नदी में माओवादियों ने नाव डुबो दी थी। उसी जगह नदी पार करके मतदान केंद्रों पर अपना अमूल्य वोट डालने ग्रामीण लाइफ जैकेट पहनकर पहुँच रहे हैं। दंतेवाड़ा विधानसभा में धुर नक्सल प्रभावित इलाके के जिन 28 मतदान केंद्रों को परिवर्तित किया गया था। उनमें इस इलाके के 06 मतदान केंद्रों के करीब 4500 मतदाताओं के लिए पहली बार ऐतिहासिक रूप से 10 मोटरबोट और 150 लाइफ उपलब्ध कराए गए हैं। आशा है इस सरकार में आदिवासियों को पोल के बाद शीघ्र ही पूल नसीब हो सके।

भाजपा के विधायक स्व. भीमा मंडावी की पत्नी ओजस्वी मंडावी ने भी मतदान कर लिया है। भीमा मंडावी की हत्या माओवादियों ने लोकसभा चुनाव के ऐन 02 दिन पहले कर दिया था । जिसके बाद उपचुनाव में उनकी पत्नी को भाजपा ने प्रत्याशी बनाया है ।

सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी ने अपने पत्रकार भतीजे लिंगाराम कोड़ोपी के साथ मतदान किया। सोनी सोरी ने मतदान करने के बाद कहा कि लोकतंत्र और संविधान पर दंतेवाड़ा के प्रत्येक आदिवासी की आस्था है और हम संविधान और लोकतंत्र को कायम रखने आजीवन संघर्ष करते रहेंगे।

खबरी चिड़िया के संपादक प्रभात सिंह ने बारसूर स्थित अपने मतदान केंद्र में मतदान किया । संपादक महोदय ने कहा कि देश के प्रत्येक नागरिक को अपने कीमती मतदान का प्रयोग करना चाहिए। आप हमेशा सच्चा और काबिल प्रत्याशी चुनें। उन्होंने अपने व्हाट्सएप स्टेट्स में लिखा है कि…

मैंने जिसे वोट दिया वह प्रत्याशी आज तक कभी चुनाव नहीं जीत पाया है, फिर भी मैं सबसे काबिल प्रत्याशी ही चुनूँगा, यदि उसे चुनाव परिणाम में 100 में से 09 वोट मिले तो यह मान लीजिए दसवाँ वोट मेरा ही होगा. चाहे प्रत्याशी हार जाए मैं अपने उसूलों पर कायम रहूँगा.

प्रभात सिंह
To Top
Open chat