भारत

देसी छोरा पहुँचा दो रूसी महिलाओं के साथ घर, गांववालों ने करवाया क्वारंटाइन

मेरठ: रुसी दुल्हन इससे पहले कि अपने सुसराल पहुंचती, उसका सामाना डॉक्टर से हुआ. डॉक्टरों ने तीनों की थर्मल स्क्रीनिंग और स्वास्थ्य परीक्षण के बाद होम क्वारंटाइन रहने को कहा. डॉक्टरों ने तीनों को सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भी दिशा निर्देश दिए. डॉक्टरों को रुसी दुल्हन और उसकी एक अन्य सहेली के बारे में जानकारी कस्बे की निगरानी समिति ने दी. रुसी दुल्हन लाने वाले देसी छोरे ने एक अन्य रुसी महिला को भी लॉकडाउन के दौरान शरण दी है.

न्यूज़ 18 की खबर के मुताबिक मार्च में लॉकडाउन के दौरान नोएडा में रहने वाले संजीव और उसकी रुसी दुल्हन की मुलाकात रुस की ही रहने वाली एक अन्य महिला से हुई. ये महिला वृंदावन की होली देखने रुस से हिन्दुस्तान आई थी. होली देखने के बाद ये महिला नोएडा आ गई थी. लेकिन रुस लौट पाती, उससे पहले लॉकडाउन लग गया. और वह रुस नहीं लौट पाई. इसी दौरान इस महिला की मुलाकात नोएडा में संजीव से हुई. संजीव की मंगेतर भी रुस की ही रहने वाली है. संजीव और उसकी मंगेतर ने इस महिला से कहा कि उसे अब कहीं जाने की जरुरत नहीं है. तब से लेकर अब तक ये महिला इसी परिवार के साथ रह रही है.

सोमवार को ये परिवार नोएडा से अपने पुश्तैनी घर मेरठ स्थित हस्तिनापुर पहुंचा. साथ में रुसी महिला भी थी. हस्तिनापुर पहुंचते ही सबसे पहले संजीव ने अपने आने की जानकारी स्थानीय स्वास्थ्य विभाग को दी. जिसके बाद डॉक्टरों ने संजीव और इन दोनों महिलाओं का चेकअप कर होम क्वारंटाइन में रहने के लिए कहा. मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की भी हिदायत दी.

Most Popular

To Top
Open chat