बस्तर

खनिज अधिकारी ने डीएमएफ में भ्रष्टाचार पर सीएमएचओ दंतेवाड़ा सहित तीन के खिलाफ दर्ज कराया एफआईआर

प्रभात सिंह खबरी चिड़िया @ दंतेवाड़ा प्रार्थी खनिज अधिकारी द्वारा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ कार्यालय में डीएमएफ योजनान्तर्गत सामाग्री क्रय एवं भुगतान में दस्तावेजों के साथ हेरफेर एवं वित्तीय अनियमितता कर मुख्य चिकित्सा एवं स्थास्थ अधिकारी एच.एच. ठाकुर सर्वजीत मुखर्जी एवं श्री बी.एस. साहू द्वारा शासकीय राशि का दुरूपयोग करने के संबंध में लिखित आवेदन पेश करने पर लिखित आवेदन पर अपराध घटित होना पाये जाने से धारा सदर का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। एफआईआर की प्रतिलिपि खबरी चिड़िया के पाठकों के लिए उपलब्ध है। आप भी पढ़िए कि खनिज विभाग के अफसर ने सीएमएचओ में हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी शिकायत में क्या लिखवाया है।

आवेदन नकल जैल है- क्रमांक/3555/जिला कार्यालय/डीएमएफ/ 2019 दंतेवाडा, दिनांक /06/2019 प्रति, थाना प्रभारी सिटी कोतवाली दंतेवाडा जिला दक्षिण बस्तर दंतेवाडा, विषय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी कार्यालय दंतेवाडा में (डीएमएफ) योजनान्तर्गत सामाग्री क्रय एवं भुगतान में दस्तावेजों के साथ हेरफेर एवं वित्तीय अनियमितता कर शासकीय राशि का दुरूपयोग करने के लिए आपराधिक प्रकरण दर्ज करने हेतु। मैं प्रमोद कुमार खनिज अधिकारी के पद पर जिला दंतेवाडा में पदस्थ हूं, जिला दंतेवाडा में जिला खनिज संस्थान न्यास निधि के आदेश क्रमांक/4619/खनिज/डीएमएफ/2019 दिनांक 10.08.18 एवं सीएसआर निधि के कार्यालय के आदेश क्रमांक/5158/जिला कार्या./एनएमडीसी/2018 दिनांक 22.09.18 दिनांक 22.09.18 के अनुसार स्वास्थ विभाग दंतेवाडा को कुल 1287.72 लाख रूपये की प्रशासकीय राशि स्वीकृति प्रदान की गयी थी जिसमें प्रथम किस्त के रूप में 410.85 लाख रूपये प्रदान किया गया था। उक्त राशि से स्वास्थ विभाग दंतेवाडा द्वारा विभिन्न एजेन्सियों के उपकरण एवं सामाग्री खरीददारी की गयी थी। जिस पर मेसर्स एशियन्स सेल्स कार्पोरेशन इंदौर के द्वारा भुगतान न होने की शिकायत पर कलेक्टर महोदय दंतेवाडा के निर्देशानुसार श्री अभिषेक अग्रवाल (डिप्टी कलेक्टर) द्वारा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी दंतेवाडा द्वारा क्रय किये गये सामाग्री के क्रय एवं भुगतान के संबंध में संधारित सभी दस्तावेजों की जांच कर जांच रिपोर्ट कलेक्टर महोदय के समक्ष दिनांक 03.06.2019 को प्रस्तुत किया जिस पर विभिन्न बिन्दुओं में वित्तीय अनियमितता पायी गयी। जांच रिपोर्ट के आधार पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) दंतेवाडा के द्वारा उक्त भुगतान के समय में नेगोशिएशन दर का पालन किया जाना था। उन्होने मेसर्स नीलम ट्रेडर्स भोपाल को संसोधित दर राशि रूपये 1,83,30,000/- के विरूद्ध पूर्व दर अनुसार राशि रूपये 3,08,86,500/- का भुगतान कर दिया जबकि मेसर्स एशियन सेल्स कार्पोरेशन इंदौर को संसोधित दर राशि रूपये 2,44,14,000/- के विरूद्ध मात्र राशि रूपये 96,21,720/- का ही भुगतान किया गया है, इन परिस्थितियों में यह परिलक्षित होता है कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) दंतेवाडा द्वारा एक फर्म विशेष को लाभ पहुंचाने हेतु रूपये 1,35,15,139/- का अतिरिक्त भुगतान किया गया है एवं अनियमित भुगतान को छुपाये जाने हेतु चेक पंजी रोकड पंजी में कूटरचना भी की गयी है। दस्तावेजों में सफेदा लगाकर भुगतान की गयी राशि को परिवर्तित कर संसोधन दर अनुरूप किया गया है, साथ ही आरटीजीएस में भी नेगोशिएशन पश्चात संसोधित दर अनुरूप फर्जी आरटीजीएस की प्रति दस्तावेजों व नस्तियों में संलग्न की गयी है। उपरोक्त जांच प्रतिवेदन के आधार पर कलेक्टर महोदय द्वारा मुझे निर्देशित किया गया है कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी श्री एच.एल. ठाकुर जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम), श्री सर्वजीत मुखर्जी तथा लेखापाल श्री बी.एस. साहू दंतेवाडा के विरूद्ध वित्तीय अनियमितता फर्जीवाडे एवं आपराधिक कृत्य कर शासकीय राशि का दुरूपयोग करना पाये जाने आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जावे। अत: मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी श्री एच.एल. ठाकुर जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम), श्री सर्वजीत मुखर्जी तथा लेखापाल श्री बी.एस. साहू दंतेवाडा के विरूद्ध वित्तीय अनियमितता फर्जीवाडे एवं आपराधिक कृत्य कर शासकीय राशि का दुरूपयोग किया गया है जिस पर आपराधिक प्रकरण दर्ज करने हेतु अनुरोध है। प्रार्थी का अंग्रेजी में अस्पष्ट हस्ताक्षर प्रार्थी प्रमोद कुमार नायक पिता रामलाल नायक उम्र 31 वर्ष खनिज अधिकारी जिला दंतेवाडा छ.ग., मो.न. 7587350731

To Top
Open chat