छत्तीसगढ़

कंधमाल में माओवादियों ने महिला मतदान कर्मी को गोली मारी

लोकतंत्र का महापर्व खून से लाल हो चुका है । बस्तर में पहले चरण के मतदान के दौरान दंतेवाड़ा विधायक भीमा मंडावी की हत्या कर दी थी। अब दूसरे चरण के मतदान के ठीक पहले माओवादियों ने उड़ीसा के कंधमाल जिले में एक महिला चुनाव अधिकारी को गोली मारकर हत्या कर दी और पोलिंग पार्टी की गाड़ी में आग लगा दी।

  • दूसरे चरण के मतदान के ठीक पहले शाम को नक्सलियों ने महिला मतदान अधिकारी की गोली मारकर हत्या कर दी
  • माओवादियों ने गोली मारने के अलावा मतदान कार्य में लगे बोलेरो वाहन को आग में झोंक दिया
  • घटना उड़ीसा के कंधमाल जिले में घटी है यह माओवादियों का कोर बेल्ट माना जाता है।

खबरी चिड़िया @ फुलबनी (उड़ीसा)

नक्सली क्षेत्रों में चुनाव आयोग के लिए मतदान कभी आसान नहीं रहा है। माओवादियों के हमले का साया हमेशा चुनाव के दौरान रहता है। पहले चरण में माओवादियों ने बस्तर में हमला कर भाजपा विधायक भीमा मंडावी समेत 05 लोगों की हत्या कर दी थी। तो दूसरे चरण में माओवादी हमले की शिकार महिला मतदान कर्मी हो गई। ओडिशा के कंधमाल जिले में बुधवार को दूसरे चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर माओवादियों ने दो घटनाओं को अंजाम दिया।

एक घटना में माओवादियों ने मतदान केंद्र जा रही एक महिला निर्वाचन अधिकारी की गोली मारकर हत्या कर दी जबकि दूसरी घटना में उन्होंने चुनावी वाहन में आग लगा दी। पुलिस ने यह जानकारी दी। दोनों घटनाएं माओवाद प्रभावित कंधमाल जिले की हैं। माओवादियों ने यहां लोगों से चुनाव का बहिष्कार करने को कहा है।

फुलबनी पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक माओवादियों ने महिला निर्वाचन अधिकारी को उस वक्त निशाना बनाया, जब वह दूसरे चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर निर्वाचन कर्मियों की एक टीम को मतदान केंद्र लेकर जा रही थीं। डीजीपी बी. के. शर्मा ने बताया कि सेक्टर अधिकारी संयुक्ता दिगल को उस वक्त गोली मारी गई, जब वह बलांदपदा गांव के पास जंगल से गुजरते समय सड़क पर पड़ी, एक संदिग्ध वस्तु को देखने के लिए वाहन से नीचे उतरी थीं। यह गांव गोछापाड़ा पुलिस थाना के अंतर्गत पड़ता है। हालांकि, वाहन में मौजूद चार अन्य निर्वाचन कर्मी सुरक्षित हैं और उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

दूसरी घटना में बोलेरो में लगाई आग


घटना कंधमाल लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाले फुलबनी विधानसभा क्षेत्र में हुई। यहां गुरुवार को सुबह 7 बजे से मतदान होना है। दूसरी घटना फिरिंगिया पुलिस थाना इलाके के एक सुदूरवर्ती गांव की है। माओवादियों ने चुनाव अधिकारियों को मतदान केंद्र ले जा रहे चुनावी वाहन में आग लगा दी। कंधमाल जिलाधिकारी सह निर्वाचन अधिकारी डी. ब्रुंडा ने कहा कि इस संबंध में शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार, वर्दीधारी सशस्त्र माओवादियों ने पहले मतदान अधिकारियों को वाहन से नीचे उतरने को कहा और फिर उसमें आग लगा दी। पुलिस ने बताया कि सभी अधिकारी सुरक्षित हैं लेकिन यह साफ नहीं है कि चुनाव संबंधी सामग्री जैसे कि ईवीएम के साथ क्या हुआ।

Most Popular

To Top
Open chat