बस्तर

यूनीसेफ के शिक्षा विशेषज्ञ शेषागिरी द्वारा गीदम के सीख केंद्रों का अवलोकन

देवेंद्र सिंह राजपूत, सीख प्रबंधक एवं प्रयोग समाज सेवी संस्था जिला दंतेवाड़ा की प्रेस

दंतेवाड़ा: दिनाँक 15 अक्टूबर 2020 को आदरणीय श्री शेषागिरी सर व शिखा राणा जी द्वारा दंतेवाड़ा के गीदम ब्लॉक में संचालित सीख कार्यक्रम का अवलोकन किया गया। गीदम ब्लॉक शिक्षा अधिकारी श्री शेख रफीक, कार्यक्रम प्रबंधक श्री देवेंद्र सिंह राजपूत जी के साथ संकुल समन्वयक श्री नितिन विश्वकर्मा व श्री जितेंद्र चौहान जी तथा प्रयोग की टीम के द्वारा यूनीसेफ की टीम को फील्ड विजिट करवाया गया। जिसमे प्रबंधक देवेंद्र सिंह राजपूत जी के मार्गदर्शन से दंतेवाड़ा की टीम द्वारा विजिट प्लान तैयार किया गया जिसके अंतर्गत-

🔹 फील्ड विजिट– यूनीसेफ की टीम को शिक्षा विभाग के द्वारा ग्राम पंचायत जावंगा व ग्राम पंचायत हाउरनार में सीख केंद्र का अवलोकन करवाया गया जहां शेषागिरी जी सीख मित्रों,बच्चों, पालकों व जनप्रतिनिधियों से चर्चा करके सीख कार्यक्रम का हाल जाना। गिरी जी द्वारा सीख मित्रों के कार्यों की सराहना की गई तथा पालकों व जनप्रतिनिधियों से आग्रह किया गया कि सीख केंद्र में बच्चों व सीख मित्रों को सहयोग करने के लिए आगे आएं व छोटी मोटी जरूरत की स्टेशनरी आदि उपलब्ध करवाए।

🔸 सीख वीडियो पर चर्चा– यूनीसेफ द्वारा भेजी जा रही विषय आधारित वीडियो व आडियो फाइल के संदर्भ में सीख मित्रों व बच्चों से चर्चा –

ग्राम जावंगा व हाउरनार के सीख मित्रों से चर्चा –

1.प्रश्न- सीख केंद्र का संचालन कैसे करते हैं?
उत्तर – गांव के सभी बच्चों के लिए वार्ड स्तर पर सीख केंद्र का संचालन किया जा रहा है। सभी सीख केंद्र शाम के समय 6 से 7 बजे के बीच संचालित होती है।
2. प्रश्न- सीख केंद्र में कितने बच्चों की नियमित उपस्थिति होती है?
उत्तर- सभी सीख केंद्र में 10 से 15 की संख्या बच्चों की नियमित उपस्थिति होती है।
3. प्रश्न. क्या आप सब के पास सीख की वीडियो पहुंच रही है?
उत्तर – उपस्थित सीख मित्रों ने जवाब दिया कि सभी सीख मित्रों के पास वीडियो नही पंहुच रही है।

4. प्रश्न. क्या कारण है कि वीडियो उपलब्ध नही हो पा रहा है?
उत्तर – जिन सीख मित्रों के पास स्मार्ट फोन नही है या व्हाट्सएप ग्रुप से नही जुड़ पाए हैं उन तक वीडियो नही पंहुच रहा है।

5. प्रश्न – अभी लेटेस्ट वीडियो कब पंहुचा है और कौन से सप्ताह का वीडियो प्राप्त हुआ है ?
उत्तर- वर्तमान में छठवें सप्ताह का गणित का वीडियो प्राप्त हुआ है जिसमे गिनती सिखाने की गतिविधि है यह वीडियो बुधवार को प्रसारित की गई थी।

6. प्रश्न – क्या आप इन वीडियो के माध्यम से गतिविधियां करवा पा रहे हैं?
उत्तर – जिनके पास वीडियो पंहुच रहा है वे इन गतिविधियों को करवाने का प्रयास कर रहे हैं वीडियो स्वयं भी देखते हैं तथा बच्चों को भी दिखाते हैं।
7. प्रश्न – यदि वीडियो नही प्राप्त हो रहा है तो बच्चों को शैक्षिक मदद कैसे कर रहे हैं?
उत्तर – सीख मित्रों ने बताया कि बच्चों के पास उपलब्ध किताबों के माध्यम से उन्हें पढ़ाई में मदद कर रहे हैं।

8. प्रश्न- यदि वीडियो के आधार पर सीख केंद्र में कोई गतिविधि करवाई गई हो तो वह हमारे सामने करके बता पाएंगे।
उत्तर – लेटेस्ट वीडियो अंको की सैर के साथ बच्चों की गतिविधि करवाई गई है जिसके माध्यम से बच्चों को गिनती सिखाई गई है।

9. प्रश्न – सीख केंद्र के बच्चों के साथ गतिविधिया करवाते वक्त किस भाषा मे ज्यादा संवाद किया जाता है?

उत्तर- कक्षा 4 से 5 तक के बच्चे हिंदी में अच्छी तरह संवाद करते हैं परंतु 1 से 3 तक के बच्चों से हिंदी के अलावा स्थानीय गोंडी व हल्बी भाषा में संवाद करना पड़ता है।

10. प्रश्न. बच्चों के साथ काम करके कैसा महसूस कर रहे हैं?
उत्तर- छोटे बच्चों के साथ काम करने में मजा आ रहा है स्वयं को भी सीखने मिल रहा है और पहली बार महसूस कर पाए कि इतने छोटे बच्चों को पढ़ाने व संभालने में शिक्षकों को कितना ज्यादा मेहनत करना पड़ता होगा।

यूनीसेफ के टीम के सामने सीख मित्रों के साथ बच्चों ने स्थानीय खेलों प्रदर्शन किया जिसे वह सीख केंद्र में खेला करते हैं।

🔹 शिक्षा विभाग के साथ समीक्षा बैठक
फील्ड विजिट के पश्चात गीदम ब्लॉक शिक्षा विभाग के साथ समीक्षा बैठक की गई जिसमें ब्लॉक शिक्षा अधिकारी के नेतृत्व में ब्लॉक के सभी संकुल समन्वयक उपस्थित व प्रयोग समाज सेवी संस्था के प्रबंधक देवेंद्र सिंह राजपूत व टीम उपस्थित थी।
सभी संकुल समन्वयकों ने सीख कार्यक्रम संचालन के अनुभवों को यूनीसेफ के टीम के सामने साझा करते हुए बताया कि सभी संकुलों में प्रत्येक गांव में सीख केंद्र का संचालन किया जा रहा है। जहां सीख मित्रों के द्वारा बच्चों को नियमित सहयोग मिल रहा है।

ब्लॉक शिक्षा अधिकारी श्री शेख रफीक जी ने बताया कि वह स्वयं 12 सीख केंद्रों का अवलोकन कर चुके हैं।

ब्लॉक लेवल पर यूनीसेफ के वीडियो को ABEO मैडम भवानी पुनेम जी द्वारा नियमित रूप से साझा किया जा रहा है। इसी तरह से सभी संकुल समन्वयक अपने अपने संकुलों में शिक्षकों तक यह वीडियो व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से पंहुचा रहे हैं।

सभी के अनुभव सुन लेने के पश्चात बैठक में विभाग के समक्ष यूनीसेफ के शिक्षा विशेषज्ञ आदरणीय गिरी जी ने फील्ड विजिट के अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि सीख कार्यक्रम अंतर्गत सीख मित्रों में बहुत उत्साह देखने को मिला तथा समुदाय भी इस कार्यक्रम में रुचि ले रहे हैं इस कार्यक्रम से पंचायत का जुड़ना यह बताता है कि सीख कार्यक्रम को जिस उद्देश्य के लिए संचालित किया जा रहा है उसे प्राप्त करने के लिए सही दिशा में प्रयास चल रहे हैं। शिक्षा विभाग को गिरी जी के द्वारा सुझाव दिया गया कि सीख कार्यक्रम माध्यम से अंतर्गत पढ़ई तुम्हर द्वारा की सफलता के लिए समुदाय का शिक्षा से जुड़ना बहुत आवश्यक है और इस कार्य के लिए शिक्षकों को बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की जरूरत है क्योंकि शिक्षक जब तक समुदाय से जुड़ाव नही रखेंगे तब तक समुदाय में शिक्षा के प्रति जागरूकता लाने का प्रयास सफल नही हो पायेगा।

अतः सभी शिक्षकों को निर्देशित किया जाय कि अपने सीख मित्रों व शिक्षा सारथियों से नियमित जुड़ाव बनाये रखे तथा सीख कार्यक्रम के वीडियो के साथ सीख केंद्र में गतिविधिया संचालित करने में सीख मित्रों व पालकों का सहयोग करे।

पिटारा किट पर चर्चा –
गिरी जी द्वारा विभाग से आग्रह किया गया कि केवल वीडियो के साथ कार्य नही किया जा सकता क्योंकि सीख मित्रों के आंकड़ों के आधार पर पता चलता है कि पूरे ब्लॉक में केवल 20 % प्रतिशत सीख मित्रों के पास स्मार्टफोन उपलब्ध है। इसलिए सीख मित्रों को सीख केंद्र में कराई जाने वाली गतिविधियों के संदर्भ में प्रिंटेड संदर्शिका उपलब्ध करवाने की आवश्यकता है इस पिटारा संदर्शिका के साथ कुछ आवश्यक स्टेशनरी सामाग्री भी सीख मित्रों को दिए जाने की आवश्यकता है।
अतः इस पिटारा किट को स्थानीय मद से शिक्षा विभाग सीख मित्रों को जल्द से जल्द उपलब्ध करवाए ताकि सीख कार्यक्रम का अपेक्षित परिणाम समय पर प्राप्त हो सके।

कलेक्टर के साथ बैठक – दोपहर 2 बजे दंतेवाड़ा के कलेक्टर श्री दीपक सोनी जी के साथ यूनीसेफ की टीम की बैठक हुई इस बैठक में जिला शिक्षा विभाग से Deo श्री राजेश कर्मा , Beo श्री शेख रफीक, प्रयोग की टीम व बचपन बनाओ की टीम भी शामिल हुए ।

बैठक में यूनीसेफ की टीम ने फील्ड विजिट के अनुभव को साझा करते हुए सफलताओं व चुनौतियों पर चर्चा करते हुए सीख मित्रों के पास स्मार्ट फोन की अनुपलब्धता व नेटवर्क प्रॉब्लम को ध्यान में रखते सीख कार्यक्रम के संचालन के लिए सीख पिटारा उपलब्ध करवाने की आवश्यकता पर चर्चा किया।

यूनीसेफ की टीम ने गीदम ब्लॉक में प्रयोग की टीम व शिक्षा विभाग के द्वारा कार्यक्रम के सफल संचालन को देखते हुए दंतेवाड़ा के अन्य 3 ब्लॉक में बचपन बनाओ के टीम के साथ सीख कार्यक्रम के संचालन का प्रस्ताव कलेक्टर के सामने रखा।
सीख कार्यक्रम प्रबंधक श्री देवेंद्र सिंह राजपूत जी द्वारा बताया गया कि –

कलेक्टर दीपक सोनी जी ने पूरे दंतेवाड़ा जिले में सीख कार्यक्रम के संचालन की सहमति दी तथा यूनीसेफ से आग्रह किया कि कार्यक्रम को जल्द से जल्द अन्य ब्लॉक में शुरू करे।

तत्पश्चात जिला शिक्षा अधिकारी जी को कलेक्टर के द्वारा निर्देशत किया गया कि यूनीसेफ के टीम के साथ समन्वय बनाकर सभी ब्लॉक में सीख कार्यक्रम के संचालन को सुनिश्चित करे।

Most Popular

To Top
Open chat