बस्तर

जनताना सरकार के इलाके हिरोली गाँव जाकर फर्जी ग्रामसभा की जाँच कराना प्रशासन के लिए टेढ़ी खीर

खबरी चिड़िया @ दंतेवाड़ा बैलाडीला पहाड़ के 13 वीं खदान अडानी और एनएमडीसी से खुदवाने का ऐतिहासिक विरोध के बाद प्रशासन द्वारा 24 जून सोमवार को हिरोली गाँव में फर्जी ग्राम सभा की जाँच पड़ताल होनी है। जिन ग्रामीणों के बयान लिए जाने हैं उन ग्रामीणों का बयान जांच टीम हिरोली में ही दर्ज करेगी। जिसके लिए जगह जगह नोटिस गांव में चस्पा किये गये है।

सोमवार को जिस हिरोली गांव में प्रशासन की जांच टीम बयान दर्ज करने जाने वाली है, फिलहाल उस गांव तक पहुँचने के लिए मुख्य मार्ग से मड़कामीरास होते हुये हिरोली गांव पहुँचना बेहद ही मुश्किल है क्योंकि सड़क को कई जगह से भाजपा के शासन काल में विधानसभा 2018 के महीनों पहले ही नक्सलियों ने काट रखा है। इसलिए मलांगीर मार्ग से होते हुये हिरोली गांव जांच टीम पहुँचने का प्रयास करेगी है। किरन्दुल के एस्सार गेट से मलांगीर रोड होते हुए कच्चे रास्ते से गुजकर हिरोली गांव का एक रास्ता जंगलों से होकर गुजरता है जबकि मुख्य रास्ता लम्बे समय से माओवादियों द्वारा उनके हिस्से की जनताना सरकार की सुरक्षा में काट दिया गया है। छत्तीसगढ़ सरकार ने विधानसभा और लोकसभा चुनाव के गुजरने के बाद भी अब तक कटी सड़क को दुरुस्त नहीं किया है।

दूसरी तरफ जांच दल में पंचायत संघर्ष समिति के सदस्यों को शामिल नहीं किया गया है। जिससे नाराजगी अब भी बनी हुई है। प्रशासन ने तर्क में दिया है कि पंचायतीराज अधिनियम के तहत प्रशासनिक जांच में किसी समिति को शामिल नही किया जा सकता है। वैसे प्रशासन पारदर्शिता की बात करते हुए हिरोली पंचायत में खुले तौर पर ग्राम पंचायत भवन में सबके सामने ग्रामीणों के बयान दर्ज करने की बात कर रही है।

हिरोली गांव अतिसंवेदनशील नक्सल प्रभावित इलाके में आता है। कल 24 जून को जांच दल अगर दूसरे रास्ते से हिरोली गांव पहुँच भी गयी तब भी ग्रामीण अपना बयान दर्ज कराने जांच दल के समक्ष पहुँचते भी हैं या नहीं इस पर भी संशय बरकरार है। इसके अलावा सुरक्षा के लिहाज से हिरोली गांव तक भारी सुरक्षा बल पुलिस प्रशासन द्वारा लगाये जाने का अनुमान है। क्योंकि बिना सुरक्षा के जाँच दल अपनी कार्यवाही पूर्ण कर ले यह भी प्रशासन के लिए चुनौतीपूर्ण स्थिति है। प्रशासनिक जांच दल, पंचायत समिति के सदस्य, आदिवासीयो के लीडर, सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार 24 को किसी भी हाल में हिरोली गांव पहुँचने का प्रयास करेंगे।

To Top
Open chat