भारत

VIRAL – आर्मी के जवान का वीडियो हुआ वायरल, बताया कैसे अफसर जवानों की पत्नियों को बुलाकर ये करवाते है

यूँ तो सेना में हो रहे अनियमिततायों से हम सब पहले से वाकिफ है ,परन्तु हाल फिलहाल आए एक सेना के जवान के वीडियो ने हड़कंप मचा दिया है।
तेज बहादुर यादव की तरह इस बहादुर जवान ने अपने मोबाइल से वीडियो बनाकर कुछ गंभीर प्रश्न कर डाले है ।

अपने फ़ोन पर बनाये गए वीडियो में वो सेना के अफसरों पर बहुत गंभीर आरोप लगा रहे है । तेज बहादुर के बनाये गए वीडियो से इतर इस वीडियो में वो जवानों एवं उनकी पत्नियों पर हो रहे शोषण की पोल खोलते नज़र आ है ।

https://www.facebook.com/UttarakhandPatrika/videos/364787904131358/


फैमिली वैलनेस सेंटर के नाम पर शोषण

इस जवान ने सेना के अफसरों पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि कैसे अफसर और उनकी पत्नियां जवानों को अपनी पत्नियों के साथ फैमिली वैलनेस सेंटर में बुलाते है ।इसके लिए आर्डर जारी किया जाता है । नहीं आने पर उन्हें बोरिया-बिस्तर बांध कर घर भेजने की धमकी दी जाती है ।
यहाँ जवानों की पत्नियों से डांस कराया जाता है जिसके मजे अफसर और उनकी पत्निया लेती है।


जवानों को इन प्राइवेट कामों में लगाया जाता है


जवानों पर हो रहे शोषण पर वो बताते है कि कैसे उनसे अफसरों के घरों में नौकर वाले काम कराये जाते है । खाना बनाने से लेकर कपड़े धोने आदि में 20से 25 जवान तक लगे होते है । काम ना करने या सवाल करने की स्तिथि में जवानों को नौकरी से निकालने की धमकी दी जाती है ।


करनी पड़ती है मेमसाबो की चापलूसी


पूरे समय इन जवानों को अफसरों की मेमसाहबो की चापलूसी करनी पड़ती है । घर के काम करो, उनके लिए गाड़ी लेकर आओ ।अगर किसी जवान को गोली लग जाये तो उसे गाड़ी उपलब्ध नहीं होगी परन्तु मेमसाब के लिए 2 मिनट में गाड़ी आ जायेगी ।

यूनिफार्म में भ्रष्टाचार


इस जवान ने अपने इस वीडियो से कई सारे पोल खोले है । जवानों के लिए यूनिफार्म की खरीदी तो होती है मगर केवल कागजों में । उन्हें अपने पैसों से यूनिफार्म खरीदना पड़ता है । यूनिफार्म के पैसे सारे अफसर मिलकर डकार जाते है । इनको मिलने वाले राशन पर भी घोटाला होता है ।


आखिर क्यों 1 हफ्ते के ट्रेनिंग वाले मिलिटेंट जवानों पर भारी पड़ जाते है


इस जवान ने सेना पर बेहद गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आखिर क्यों सीमा पर हमारे जवान शहीद हो जाते है या बहुत से ऑपरेशन सफल नही हो पाते ?
इसका जवाब वो कुछ इस प्रकार देते है कि इन जवानों को अपने काम से इतर सेना के अफसर निजी कामों में लगा देते है। जिनको सीमा पर होना चाहिए वो घरों में बैठकर अफसरों के कपड़े धो रहे है । जवानों की संख्या कम हो जाती है क्योंकि इनको अन्य किसी काम मे लगाया जाता है । कई बार जवान बंदूक चलाना भूल जाता है क्योंकि उसे प्रैक्टिस नहीं होती ।


इस जवान ने हिम्मत करके वीडियो तो बना दी है मगर कही तेज बहादुर की तरह इसे भी !!!!!

To Top
Open chat