छत्तीसगढ़

बस्तर में मतदान और जनता का लोकतंत्र पर भरोसा

बस्तर में मतदान संगीन के साए में होते है यह तो आप सभी को पता हैं | नक्सलवाद से ग्रसित बस्तर में आदिवासियों को उनके गाँव में मतदान करने का अधिकार उनसे पिछली भाजपा सरकार के रहते छिनकर उनके मतदान केन्द्रों को स्थानांरित कर शहरी सुरक्षित क्षेत्र से लगे इलाकों में कर दिया गया| जिसके कारण ग्रामीण आदिवासियों को 10 से 50 किलोमीटर तक पैदल सफ़र कर मतदान करने जाना पड़ता है |

To Top
Open chat